राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी पहुंचे झारखंड,कहा उद्योग-शिक्षा से बदलेगी सूरत

990
0
SHARE

12417713_1533090267018182_3195339781188613869_n

संवाददाता.रांची. झारखंड के दो दिवसीय यात्रा पर  महामहिम राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी रांची पहुंचे और हजारीबाग स्थित विनोवा भावे विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि भाग लिया. इस अवसर पर उन्होंने पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा को डी लिट् की उपाधि से सम्मानित किया. इसके अलावा राष्ट्रपति ने वि.वि. के 20 टॉपरों को भी गोल्ड मेडल और सर्टिफिकेट्स प्रदान किया.

इस अवसर पर उन्होंने कहा है कि उद्योग और शिक्षा के सपोर्ट से राज्य के साथ-साथ देश की सूरत बदली जा सकती है. उन्होंने कहा कि झारखंड में 4% कोयला, 21% आयरन के अलावा कई लौह अयस्क हैं. सूरत बदलने में शिक्षा का बहुत बड़ा योगदान होगा. सही मार्गदर्शन पाकर छात्र देश और राज्य की उन्नति में सहयोग कर सकते हैं. टेक्निकल जानकारी युवाओं को आगे बढ़ाने में सहायक होगी. संत विनोवा देश के महान सपूत के नाम पर इस यूनिवर्सिटी का नाम पड़ा है. इसकी कृति भी ऐसे ही फैलनी चाहिए.

इस अवसर पर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि शिक्षा हमें विनम्रता देती है. गुणवत्पूर्ण शिक्षा पर हमारा जोर है. यूनिवर्सिटी प्रबंधन उसी दिशा में काम करे.

अपने दो दिवसीय झारखंड दौरे के पहले दिन राष्ट्रपति ने विनोवा भावे वि,वि. के सातवें दीक्षांत समारोह में हिस्सा लिया और रांची वापस लौटे. रांची में उन्होंने आड्रे हाउस में आर्ट गैलरी का उद्घाटन किया.
राष्ट्रपति की सुरक्षा को देखते हुए रांची से लेकर हजारीबाग तक कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए थे. राष्ट्रपति के गुजरते समय रांची एयरपोर्ट से राजभवन मार्ग को पूरी तरह से सील कर दिया गया था. प्रशासन ने सौ से अधिक मजिस्ट्रेट की तैनाती की है. शुक्रवार से ही इलाके की सघन जांच की जा रही है. राष्ट्रपति के कार्केड में 33 गाड़ियों का काफिला शामिल था.

LEAVE A REPLY