Pramod Dutta

84 POSTS 1 COMMENTS
सन् 1980 से पत्रकारिता. 1985 से विभिन्न अखबारों एवं पत्रिकाओं में विभिन्न पदों पर कार्यानुभव. बहुचर्चित चारा घोटाला सहित कई घोटाला पर एक्सक्लुसिव रिपोर्ट, चारा घोटाला उजागर करने का विशेष श्रेय. ‘राजनीति गॉसिप’ और ‘दरबारनामा’ कॉलम से विशेष पहचान. ईटीवी बिहार के चर्चित कार्यक्रम ‘सुनो पाटलिपुत्र कैसे बदले बिहार’, साधना न्यूज और हमार टीवी के टीआरपी ओरियेंटेड कार्यक्रम ‘पड़ताल - कितना बदला बिहार’ के रिसर्च हेड और विभिन्न चैनलों के लिए पॉलिटिकल पैनलिस्ट. संपर्क – 09431033460

नया बना है लालू-बिग्रेड,पुराना दुश्मन है सुशील मोदी

प्रमोद दत्त. पटना.कभी लालू बिग्रेड में लगभग एक दर्जन विधायक होते थे.साधु-सुभाष के नेतृत्व वाले लालू-बिग्रेड के निशाने पर तत्कालीन प्रतिपक्ष के नेता सुशील मोदी...

लालू हुए सक्रिय,राजद को टॉनिक…क्या हो सकता है आगे?

प्रमोद दत्त. पटना.दिल्ली में इलाज और स्वास्थ्य लाभ कर रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद पार्टी में नया जान फूंकने के लिए सक्रिय हो गए हैं.वर्चुअल...

तेजस्वी कर रहे हैं जनादेश का अपमान

प्रमोद दत्त. पटना.महागठबंधन से रिश्ता तोड़कर भाजपा के साथ सरकार बनाने पर नीतीश कुमार पर जनादेश का आरोप लगाने वाले प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव...

बिहार:भगवाकरण की ऐसी है तैयारी

प्रमोद दत्त. पटना. बड़े भाई से छोटे भाई की भूमिका में आए नीतीश कुमार असहज महसूस करने लगे हैं.बड़े भाई की भूमिका में आए भाजपा...

क्या है नीतीश कुमार का अगला प्लान ?

प्रमोद दत्त. पटना. नीतीश कुमार का बार-बार यह दोहराया जाना कि वे सीएम नहीं बनना चाहते थे और यह भी कहना कि सरकार पूरे पांच...

चुनाव में प्रलोभन ही क्यों-प्लान क्यों नहीं ?

प्रमोद दत्त. पटना. बिहार विभाजन (झारखंड गठन) के बाद बिहार को नए सिरे से सवांरने की जिस प्लानिंग की जरूरत थी वह प्लान किसी राजनीतिक...

बिहार:सीएम के 6 घोषित दावेदार,अघोषित सातवां कौन ?

प्रमोद दत्त. पटना.बिहार विधान सभा के चुनाव में मुख्यमंत्री पद के छह घोषित उम्मीदवार हैं.एनडीए ने फिर नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री का उम्मीदवार बनाया है...

फिर सामने आई नीतीश कुमार की चाणक्य नीति

प्रमोद दत्त. पटना.मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बिहार की राजनीति में चाणक्य कहा जाता है.चुनाव के ठीक पहले दल-बदल के खेल में दूसरों पर भारी पड़ते...

बिहार चुनाव में राष्ट्रवाद

प्रमोद दत्त. पटना.क्या बिहार विधान सभा के चुनाव में “ राष्ट्रवाद “ चुनावी मुद्दा बन सकता है? यह सवाल इसलिए उठाए जा रहे हैं क्योंकि...

मुख्यमंत्री का चुनावी भाषण ?

प्रमोद दत्त. पटना.स्वतंत्रता दिवस के मौके पर गांधी मैदान के मुख्य समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के संबोधन को चुनावी शंखनाद कहा जा रहा है.उन्होंने...