नीतीश ने ली मुख्यमंत्री की शपथ, हुआ भाजपा-विरोधी ताकत का प्रदर्शन

2103
0
SHARE

12227004_1046074398756441_695480212363183282_n

निशिकांत सिंह

पटना. पटना के गांधी मैदान में आयोजित भव्य समारोह में नीतीश कुमार ने आज पांचवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री  पद की शपथ ली. राज्यपाल रामनाथ कोविंद ने नीतीश को बिहार के 34वें मुख्यमंत्री के रूप में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई.शपथ ग्रहण समारोह में देश भर के तमाम भाजपा-विरोधी शीर्ष नेता शामिल हुए. नीतीश कुमार के बाद 28 मंत्रियों ने शपथ ली जिसमें लालू प्रसाद के दोनों बेटे तेजस्वी यादव व तेज प्रताप शामिल हैं.

नीतीश कुमार की नई कैबिनेट में राजद,जदयू और कांग्रेस के जिन 28 विधायकों को शामिल किया गया है उनमें मात्र 4 ही उनके पुराने कैबिनेट के मंत्री शामिल किए गए हैं. जिन विधायकों को आज मंत्री पद की शपथ दिलाई गई उनमें निम्न शामिल हैं. 1.तेजस्वी यादव 2. तेज प्रताप यादव 3. अब्दुल बारी सिद्दिकी 4. विजेंद्र प्रसाद यादव 5.राजीव रंजन सिंह उर्फ  ललन सिंह 6. अशोक चौधरी 7. श्रवण कुमार 8. जय कुमार सिंह 9. आलोक मेहता 10. चंद्रिका राय 11. कपिलदेव कामत 12. मदन सहनी 13. मुनेश्वर चौधरी 14. शैलेश कुमार 15. मंजू वर्मा 16. अब्दुल मस्तान 17. शिवचंद राम 18. महेश्वर हजारी 19. अवधेश कुमार सिंह 20. कृष्ण नंदन प्रसाद वर्मा 21. राम विचार राय 22. मदन मोहन झा 23. संतोष कुमार निराला 24. अब्दुल गफ़ूर 25. चंद्रशेखर 26. खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद 27. अनीता देवी 28. विजय प्रकाश     ने शपथ ग्रहण किया. मंत्रिमंडल में 12 जदयू कोटे से  12 राजद कोटे से  तथा 4 कांग्रेस कोटे से मंत्री बनाए गए हैं.

समारोह में कई राज्यों के मुख्यमंत्री और बड़े नेता शामिल हुए, जिनमें पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा, कांग्रेस के नेता राहुल गांधी,केंद्र सरकार के प्रतिनिधि के तौर पर दो केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू और राजीव प्रताप रूडी लोकसभा में विपक्ष के नेता  मल्लिकार्जुन खड़गे, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, कर्नाटक के सीएम सिद्धरमैया, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ,दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित, रीता बहुगुणा जोशी भी समारोह में शामिल हुई. जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला, एनसीपी के वरिष्ठ नेता शरद पवार,  सीपीएम के नेता सीताराम येचुरी के अलावा लालू प्रसाद व राबड़ी देवी भी समारोह में शामिल हुए.नीतीश कुमार के शपथ ग्रहण समारोह में जिस प्रकार भाजपा विरोधी शीर्ष नेताओं का जमावड़ा हुआ इसे भाजपा विरोध का शक्ति प्रदर्शन भी कहा जा सकता है.

SHARE
Previous articleवैशाली में उपद्रव के बाद तनाव, घायल ओपी प्रभारी की मौत
Next articleनीतीश के मंत्रियों को मिला विभाग, तेजस्वी बने उपमुख्यमंत्री
सन् 1980 से पत्रकारिता. 1985 से विभिन्न अखबारों एवं पत्रिकाओं में विभिन्न पदों पर कार्यानुभव. बहुचर्चित चारा घोटाला सहित कई घोटाला पर एक्सक्लुसिव रिपोर्ट, चारा घोटाला उजागर करने का विशेष श्रेय. ‘राजनीति गॉसिप’ और ‘दरबारनामा’ कॉलम से विशेष पहचान. ईटीवी बिहार के चर्चित कार्यक्रम ‘सुनो पाटलिपुत्र कैसे बदले बिहार’, साधना न्यूज और हमार टीवी के टीआरपी ओरियेंटेड कार्यक्रम ‘पड़ताल - कितना बदला बिहार’ के रिसर्च हेड और विभिन्न चैनलों के लिए पॉलिटिकल पैनलिस्ट. संपर्क – 09431033460

LEAVE A REPLY