भविष्य निर्माताओं का भविष्य अंधकारमय

168
0
SHARE

संवाददाता.फतुहा.स्थानीय गोविन्दपुर में प्राईवेट स्कूल और कोचिंग के संचालकों व शिक्षकों ने सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए सांकेतिक धरना दिया। गौरतलब है कि कोरोना वायरस और इसके चलते हुए लॉकडाउन में लगभग पांच महीने से बंद प्राईवेट स्कूल और कोचिंग के शिक्षकों व संचालकों के सामने भूखमरी के हालात पैदा हो गए हैं।

इसी संबंध में स्कूल-कोचिंग शिक्षक व संचालकों ने हाथ में तख्ती लेकर सांकेतिक धरना दिया। वहीं स्कूल संचालक संजय कुमार ने बताया कि सरकार लगभग सभी सेक्टर में लोगों को मदद कर रही। लोगों को समय-समय पर संस्थान भी खोलने पर छूट दे रही है। लेकिन प्राईवेट स्कूल-कोचिंग पर पिछले लगभग पांच महिनों से सरकार का कोई ध्यान नहीं है। लगभग सभी स्कूल-कोचिंग किराए के मकान में चल रहे हैं। हजारों का बिजली बिल चालू है। हम सभी सरकार से मांग करते हैं कि प्राईवेट स्कूल-कोचिंग के बारे में सोचें। इन लोगों ने मांग की है कि स्कूल-कोचिंग का किराया और बिजली बिल माफ करवाई जाए।

मौके पर अजय कुमार आज़ाद, प्रमोद कुमार, संजय, रवि कुमार, कृष्ण कुमार, भोला कुमार, अरुण पटेल, मुकेश कुमार माथुरी, मुकेश कुमार और तनिष्क सागर सहित अन्य शिक्षकों ने अपने-अपने विचार व्यक्त किए।

 

LEAVE A REPLY