कोविड-19 के लिए दानापुर रेल मंडल अस्पताल पूरी तरह से सक्षम-डीआरएम

228
0
SHARE

सुधीर मधुकर.खगौल. देश और राज्य में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को ध्यान में रख कर इस के वायरस संक्रमण के रोकथाम और ईलाज के लिए ,पूर्व मध्य रेल का दानापुर रेल मंडल अस्पताल पूरी तरह से सक्षम और तैयार है | इसकी जानकारी मंडल के डीआरएम सुनील कुमार ने देते हुए बताया है कि विश्व स्वास्थ संगठन, रेलवे बोर्ड,रेलमंत्री पियूष गोयल के साथ-साथ पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक एलसी त्रिवेदी के दिशा निर्देश पर दानापुर रेल मंडल अस्पताल को 80 बेड का आइसोलेशन वार्ड के रूप में कोरोना अस्पताल के रूप में पूरी तरह से तैयार किया गया है | इस के आलावा मंडल मुख्यालय स्थित लखनीबिहगा मधु बिहार रेल बिहार में 160 बेड का कोरोंटाईन होम तैयार किया गया है | जहाँ पीड़ित रेलकर्मी भर्ती होने के बाद ईलाज के बाद  स्वस्थ हो कर सभी लौट भी रहे हैं |  

उन्होंने कहा कि खास कर कोरोना से संक्रमित और इस के लक्षण पाए जाने वाले रेलकर्मियों को हर तरह के ईलाज और सुविधा देने के लिए सक्षम और तैयार है,जो सुविधा फ़िलहाल पटना एम्स,एनएमसीएच और पीएमसीएच में दिया जा रहा है ,वही सारी सुविधा दानापुर के मंडल अस्पताल में भी उपलब्ध है | अस्पताल में भर्ती रोगियों की मानसिक परेशानियों से ध्यान हटाने  और मनोरंजन के लिए इस के वार्ड में टीवी भी लगाया गया है,ताकि उसका ध्यान बटे और दुनियां से अपने आप को अलग न समझें | कोरोना संक्रमण से डर कर नहीं ,सावधानी जरुर रखें साथ-ही-साथ मन में विश्वास और हौसला को बुलंद रख कर  इसका सामना कर,इसको हर हाल में हारने के संकल्प भी लें  | देखा जा रहा है कि इस के अधिकांश पीड़ित ईलाज के बाद घर भी लौट रहे हैं | इस लिए रेलकर्मचारियों को घबराने और डरने की कोई बात नहीं है | दानापुर मंडल रेलकर्मचारियों के स्वाथ्य सुरक्षा के प्रति पूरी तरह से सजग रह कर ,ईलाज के लिए सक्षम और तैयार है | आप पूरे विश्वास के साथ यहाँ ईलाज करा सकते हैं |

उन्होंने बताया कि दूसरी ओर कोरोना संक्रमण पीड़ित रोगियों की सेवा करने वाले जो खास कर मेडिकल सेवाकर्मी हैं,पूरी तरह सेवा भाव और भगवान् के रूप में पीड़ित मानव की सेवा करें।,इस के लिए भी समय-समय पर काउंसिलिंग किया जाता है और भरोसा दिलाया गया कि रेलवे आप को हर तरह के स्वास्थ्य सुरक्षा किट उपलब्ध करा रही है,किसी चीज की कमी नहीं है | मंडल के  सभी 15 हजार कर्मचारियों के स्वास्थ्य सुरक्षा को ध्यान में रख कर, स्वास्थ्य सुरक्षा किट दिया गया है | दानापुर मंडल की बड़ी उपलब्धि है कि , मंडल के कर्मचारियों के द्वारा खास कर मेडिकल सेवाकर्मियों के लिए जरुरी पीपीई.मास्क,सेनेटाईजर आदि काफी संख्या में स्वास्थ्य सुरक्षा किट तैयार किया गया  है |

दानापुर रेल मंडल अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ.आरके वर्मा ने मंडल अस्पताल में कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए अपनी ओर से की गयी तैयारी के वारे में विस्तृत जानकारी अस्पताल में की गयी के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यहाँ 80 बेड वाले आइसोलेशन वार्ड तैयार किया गया है | जहाँ हर तरह की सुविधा है | इस के वाबजूद ,चुकी यह अस्पताल संबंधित विभाग से कोरोना अस्पताल के रूप में घोषित नहीं किया गया है, इसलिए ,जिस व्यक्ति में कोरोना का लक्षण पाया जाता है,उसे भर्ती कर जांच के लिए इसका सैम्पल लेकर , दिल्ली स्थित एक प्राइवेट पैथ लैब को शाम को एरोप्लेन से भेजा जाता है | इस के हरेक जाँच के लिए 2500 रूपये रेलवे अस्पताल भुगतान करती है | अभी तक करीब 50 संभावित रोगियों का जांच कराया गया है,जिस में 17 केस पॉजिटिव आया है | जांच में जब कोई पॉजिटिव पाया जाता है तो उसे , निर्धारित गाईडलाईन के तहत पटना स्थित एनएमसीएच,एम्स या फिर पीएमसीएच में ईलाज के लिए भेजा जाता है |

इस मंडल अस्पताल में फिलहाल जरुरत से अधिक 27 वेंटिलेटर एक बड़ा मेकनिकल वेंटिलेटर के अलावा 27 बेड के साथ कार्डियो मोनेटर और सभी 80 बेड में ऑक्सीजन  की सुविधा उपलब्ध है | 5,500 पीपीई उपलब्ध है,इस के अलावा बिना शरीर में स्पर्श किये जांच करने वाला थर्मल जांच थर्मामीटर , सर्जिकल मास्क, 95 मास्क ,हेड शेड,ग्लबस आदि सभी तरह के स्वास्थ्य सुरक्षा किट पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है,और ऑडर भी दिया गया है | इस में भर्ती रोगियों का बेड और तकिया रेकसिन का बनाया हुआ है ,ताकि  इसकी सही ढंग से साफ़-सफाई और सेनेटाईज भी किया जा सके | बेड सीट ,खाने-पीने के जो भी प्लेट,गलास है ,डिपोजल है | इसे दुबारा इस्तेमाल  नहीं किया जाता है | भोजन-पानी के लिए कैंटीन की व्यवस्था की गयी है | इससे निकलने वाला कचरा गंदगी आदि को नष्ट करने के लिए अलग से व्यवस्था की गयी है | संक्रमण वाले कोरोना रोगियों को ध्यान में रख कर सारी व्यवस्था पूरी तरह से अलग से किया जा रहा है | इसकी निगरानी मंडल अस्पताल के डॉ. संजीत कुमार के देख रेख में चार अलग-अलग डाक्टरों की टीम कर रही है |

इस मंडल अस्पताल में फिलहाल अन्य रोगों से पीड़ित रोगियों को ईलाज और इनडोर में भर्ती भी किया जा रहा है | सभी तरह की ओपीडी सेवा पूर्व की तरह,अलग बिल्डिंग में  चल रहा है। जरुरत पड़ने पर उसे पटना जंक्शन स्थित सेंट्रल रेलवे अस्पताल या फिर रोगों की गंभीरता को ध्यान में रख कर रेलवे से रजिस्टर्ड पटना के अन्य प्राइवेट अस्पतालों में भी भी रेफर किया जाता है | दानापुर रेल मंडल अस्पताल की इमर्जेसी सेवा 73690 24938 और रेलवे फोन पर मोब से,,06115  282861 उपलब्ध है |

पूर्व मध्य रेल कर्मचारी यूनियन के केंद्र नेता एस एन पी श्रीवास्तव,संजय कुमार मंडल ने अस्पताल में  कोरोना संक्रमण के रोगियों के लिए मांगों के अनुरूप की की गई,तैयारियों के प्रति  डीआरएम के प्रति आभार व्यक्त किया है।

LEAVE A REPLY