कुशल युवा कार्यक्रम का एक माह में अध्ययन रिपोर्ट दें- उपमुख्यमंत्री

72
0
SHARE

संवाददाता.पटना.श्रम संसाधान विभाग के अन्तर्गत विगत तीन साल से संचालित ‘कुशल युवा कार्यक्रम’ की विभागीय मंत्री विजय कुमार सिन्हा व आला अधिकारियों के साथ अपने कार्यालय कक्ष में सोमवार को समीक्षा के दौरान उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कार्यक्रम को और बेहतर बनाने के सुझाव के साथ एक माह में अब तक के अनुभवों पर आधारित अध्ययन रिपोर्ट देने तथा प्रशिक्षण सामग्री को और सार्थक व सामयिक बनाने का निर्देश दिया।

इस दौरान अधिकारियों ने बताया कि 2016-17 से शुरू किए गए कुशल युवा कार्यक्रम के तहत अब तक 10.07 लाख प्रशिक्षणार्थियों का निबंधन हुआ जिनमें से 7.28 लाख ने प्रशिक्षण पूरा कर सर्टिफिकेट प्राप्त कर लिया है। सम्प्रति संचालित 1502 केन्द्रों के माध्यम से 87,140 कम्प्यूटर, सॉफ्ट और कम्युनिकेशन स्कील का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहें हैं।

प्रशिक्षणार्थियों की उपस्थिति से संबंधित बड़े पैमाने पर मिली शिकायतों के बाबत शीघ्र ही उपस्थिति को आधार आधारित करने का निर्णय लिया गया।

प्रशिक्षणार्थियों को आकर्षित करने व उनकी संख्या बढ़ाने के लिए उनकी अधिकतम उम्र सीमा 28 से बढ़ा कर 30 करने, प्रतिदिन प्रशिक्षण के 4 घंटे की अवधि को घटाने, निबंधन में जिला के आवास प्रमाण पत्र की बाध्यता को खत्म करने तथा मैट्रिक की परीक्षा में शामिल हो चुके छात्रों को भी प्रशिक्षण का मौका देने का अधिकारियों ने सुझाव दिया।

केवाईपी के तहत संचालित प्रशिक्षण केन्द्रों को नियमित भुगतान व अनुश्रवण तथा उन्हें आर्थिक तौर पर सक्षम बनाने एवं प्रशिक्षणार्थियों की सुरक्षा निधि उनके सर्टिफिकेशन के साथ ही उनके खाते में वापस करने का भी निर्देश दिया गया।बैठक में श्रम संसाधान विभाग के प्रधान सचिव सुधीर कुमार के अलावा बीएसडीएम, एमकेसीएल आदि के आलाधिकारी भी उपस्थित थे।

 

 

 

LEAVE A REPLY