जेएसीपी के छात्र नेताओं की रिहाई के लिए राज्यव्यापी उपवास

151
0
SHARE

संवाददाता.पटना. जन अधिकार पार्टी द्वारा पटना यूनिवर्सिटी छात्रसंघ के अध्यक्ष सह जन अधिकार छात्र परिषद के उपाध्यक्ष मनीष यादव, विनय यादव, लवकुश यादव, आदित्या मिश्रा की रिहाई की मांग को लेकर आंखों पर काला पट्टी बांधकर एक दिवसीय राज्यव्यापी भूख हड़ताल किया गया। बता दें कि बीते दिनों प्रवासी छात्र मजदुरो को वापस बुलाने की मांग को लेकर सोशल डिस्‍टेंसिंग बनाकर धरने पर बैठे जन अधिकार छात्र परिषद के नेताओं को पटना यूनिवर्सिटी मुख्यद्वार से गिरफ्तार कर लिया गया था, जिसके विरोध में आज राज्‍यव्‍यापी उपवास किया गया।

इस दौरान भूख हड़ताल पर बैठे जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सह छात्र परिषद के प्रभारी राजेश रंजन ने कहा कि वर्तमान सरकार की तानाशाही व्यवस्था में मजदूरों और छात्रों की हालत दर्दनाक है। कोरोना काल में सड़क पर पैदल चल युद्ध लड़ रहे सैकड़ों मजदूर हर रोज शहीद हो रहे हैं और उनको वापस बुलाने के लिए आवाज उठाने वाले जन अधिकार छात्र परिषद के छात्र नेताओं को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाना शर्मनाक है। मजदूरों को वापस बुलाने के नाम पर केंद्र और राज्य सरकार के बीच नूरा कुश्ती का खेल बन्द हो, भूख से तड़प रहे प्रवासी मजदूरों के पीड़ा को सरकार गंभीरता से ले।

जन अधिकार छात्र परिषद के प्रदेश अध्यक्ष विशाल कुमार ने कहा कि गांव में इसोलेशन वार्ड के नाम पर बंदर बाट हो रहा है, मुखिया बीडीओ सहित सभी पदाधिकारी सरकारी खजाने को लूटने पर लगे हैं,सरकार मूकदर्शक बन बिहार के बदहाली की तस्वीर देख रही है, जन अधिकार छात्र परिषद के सभी साथयो को जल्द रिहा नही किया जाता है तो कोरोना काल मे ही अब सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर सड़को पर उतर सरकार के विरोध करने के लिए विवश होंगे। जन अधिकार पार्टी के राज्यव्यापी भूख हड़ताल पर जाप के राष्ट्रीय महासचिव राजेश रंजन पप्पु,छात्र परिषद के प्रदेश अध्यक्ष विशाल कुमार,युवा परिषद के उपाध्यक्ष सन्नी यादव,युवा परिषद पटना के प्रधान महासचिव नीतीश सिंह, निकी जसवाल,विकास कुमार,यीशु यादव,मनीष कुमार आदि उपस्थित रहे।

 

 

LEAVE A REPLY