बुधवार तक राष्ट्रीय पुस्तक मेला,पुरस्कार वितरण मंगलवार को

59
0
SHARE

पटना,  18 नवंबर.समय इंडिया, नई दिल्ली की ओर से यहां ऐतिहासिक गांधी मैदान में 9 नवंबर से शुरू हुआ 12 दिवसीय राष्ट्रीय पुस्तक मेला बुधवार 20 नवंबर तक चलेगा। सोमवार को मेला परिसर में पधारे पुस्तक प्रेमियों ने  पसंदीदा पुस्तकों की खरीदारी के बीच ही साहित्यिक कार्यक्रमों का भी लुत्फ उठाया। इस दौरान पुस्तक प्रेमियों ने कवयित्री सम्मेलन, व्यंग्य और काव्य गोष्ठी का आनंद लिया। सुबह से ही पुस्तक प्रेमी विभिन्न स्टालों पर अपनी पसंद की पुस्तकें ढूंढते-खरीदते रहे। प्रतियोगिता परीक्षाओं से संबंधित पुस्तकों के स्टालों पर बहुत भीड़ रही।

कवयित्री सम्मेलन में रसधार

समय इंडिया के प्रबंध न्यासी चंद्र भूषण ने बताया कि अपराह्न में मेला परिसर में स्थित जयप्रकाश भारती सभागार में कवयित्री सम्मेलन का आयोजन किया गया। मंच पर वरिष्ठ और युवा कवयित्रियों का अनोखा मेल रहा। सभागार में बैठे श्रोता भी तालियां बजाकर कवयित्रियों का खूब उत्साह बढ़ाया। वरिष्ठ कवयित्री डा. सुधा सिन्हा की कविता- बाहों में मेरे वो आए थे… ने खूब तालियां बटोरीं। सम्मेलन की अध्यक्षता वरिष्ठ कवयित्री डा. पुष्पा जमुआर ने और मंच संचालन लता प्रासर ने किया। मंच पर डा. सुधा सिन्हा के अलावा मनोरमा तिवारी, डा. सीमा यादव, विभा देवी, प्रिया रानी, पूनम सिन्हा ‘श्रेयस’, मधु रानी, उर्वशी कुमारी, डा. मौसमी सिन्हा, अनिता किरनवे आदि शामिल रहीं।

शाम को व्यंग्य रचनाओं पर ठहाके

मेला के मीडिया प्रभारी अशोक प्रियदर्शी ने बताया कि शाम को पुस्तक प्रेमियों ने साहित्य की एक और विधा व्यंग्य का आनंद लिया। जयप्रकाश भारती सभागार में ‘आज की परिस्थितियां साहित्य और व्यंग्य’, पर चर्चा हुई। इसमें अनेक प्रख्यात साहित्यकारों ने भाग लिया। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार डा. विनय कुमार विष्णुपुरी ने की। उन्होंने कहा कि व्यंग्य, हिंदी साहित्य का एक बहुत ही महत्वपूर्ण विधा है। इस विधा का आम लोग मनोरंजन के लिए बड़े ही आसानी से प्रयोग करते हैं। इस विधा में अनेकानेक नामचीन लोगों ने अपना कलम चलाया है। डा. विजय प्रकाश ने कहा कि यह विधा रोते इंसान को हंसाने का कार्य करता है। अवध किशोर यादव ने व्यंग्य विधा को हिंदी साहित्य का महत्वपूर्ण विधा कहा है। कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकार प्रभात कुमार धवन ने भी अपने विचार रखे। मंच संचालन साहित्यकार श्रीकांत व्यास ने और धन्यवाद ग्यापन कोमल जी ने किया।

पुरस्कार वितरण समारोह मंगलवार को

मेला की प्रबंधक दीपा कुमारी ने बताया कि मंगलवार को मेला परिसर में पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया जाएगा। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बिहार सरकार के कला, संस्कृति और युवा मामलों के मंत्री आदरणीय श्री प्रमोद कुमार होंगे।  उन्होंने कहा कि मेला में देश के अनेक नामचीन प्रकाशक आए हुए हैं। इनमें नेशनल बुक ट्रस्ट और प्रकाशन विभाग, भारत सरकार के अलावा बिहार राष्ट्रभाषा परिषद्, विद्यार्थी बुक्स, शांति संदेश पुस्तकालय, डायमंड पाकेट बुक्स समेत करीब 80 प्रकाशक और वितरक शामिल हैं।

 

LEAVE A REPLY