कोविड-19, ऑनलाइन बेड मैनेजमेंट की व्यवस्था शीघ्र लागू होगी

336
0
SHARE

संवाददाता.पटना.वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मीडिया के साथ संवाद में सचिव सूचना एवं जन सम्पर्क अनुपम कुमार, सचिव स्वास्थ्य लोकेश कुमार सिंह, अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय जितेन्द्र कुमार ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम संबंध में अद्यतन जानकारी दी।

सचिव, सूचना एवं जन-सम्पर्क अनुपम कुमार ने बताया कि कोविड-19 एवं बाढ़ की वर्तमान स्थिति से निपटने को लेकर सरकार द्वारा लगातार पूरी तत्परता के साथ सभी आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। टेस्ट की संख्या काफी बढ़ा दी गयी है और अब सभी प्रखंडों तक टेस्टिंग की सुविधा उपलब्ध है। कोविड केयर सेंटर्स, कोविड हेल्थ सेंटर्स और डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल्स में लगातार बेड्स की संख्या बढ़ायी जा रही है। स्वास्थ्य विभाग का यह प्रयास है कि अब जो भी नयी बेड कैपिसिटी ऐड हो रही है वह ऑक्सीजन के साथ हो। 10 डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल्स का प्रबंधन देखने के लिए डेडीकेटेड टीमें लगायी गयी है। इससे स्थिति में काफीसुधार हुआ है। यह भी निर्णय लिया गया है कि हॉस्पिटल्स में इलाजरत कोविड-19 के सभी मरीजों एवं होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों से प्रतिदिन कंट्रोल रूम से बात कर उनकी समस्या का त्वरित निराकरण किया जाएगा। इसे लेकर कार्रवाई की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग

अब ऑनलाइन बेड मैनेजमेंट की व्यवस्था पर काम कर रहा है और उम्मीद है कि यह शीघ्र ही लागू हो जाएगी। आर0टी0पी0सी0आर0 टेस्ट की क्षमता भी बढ़ायी जा रही है। सरकार का यह प्रयास है कि ज्यादा से ज्यादा टेस्ट हो एवं क्वालिटी ऑफ ट्रीटमेंट में सुधार हो ताकि अधिक से अधिक लोग स्वस्थ हों और मरीजों को किसी प्रकार की दिक्कत न हो।

सचिव स्वास्थ्य लोकेश कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना से पिछले 24 घंटे में 1,284 लोग स्वस्थ हुए हैं और अब तक 30,504 लोग कोविड-19 संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं। इस प्रकार बिहार का रिकवरी रेट 66.43 प्रतिशत है। 28 जुलाई अब तक कोविड-19 के 1,528 मामले प्रतिवेदित हुए हैं, जबकि 27 जुलाई एवं पूर्व 800 कोरोना संक्रमण के नये मामले भी सामने आये हैं। वर्तमान में बिहार में कोविङ-19 के 15,141 एक्टिव मरीज हैं। उन्होंने बताया किपिछले 24 घंटे में 17,794 सँपल्स की जांच की गई है और अब तक की गयी कुल जांच की संख्या 5,04,629 है।

लोकेश कुमार सिंह ने बताया कि प्रतिदिन 20,000 जांच का लक्ष्य निर्धारित किया गया है और उम्मीद है कि स्वास्थ्य विभाग अगले दो दिनों में यह लक्ष्य प्राप्त कर लेगा। जिला स्तर पर ट्रीटमेंट की अच्छी व्यवस्था हो, इस दिशा में विभाग प्रयत्नशील है। जिला स्तर पर मरीजों का इलाज, ऑक्सीजन की उपलब्धता, आई0सी0यू0 और वेंटिलेटर की व्यवस्था की जा रही है ताकि कम से कम मरीजों को उच्चतर मेडिकल संस्थानों में इलाज के लिए आना पड़े। आज की तिथि में पटना एम्स को मिलाकर 10 डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल्स हैं, जहाँ सीवियर केटेगरी के मरीजों का इलाज हो रहा है। अस्पतालों की व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए सभी मेडिकल कॉलेजों में लोगों की प्रतिनियक्ति की गयी है। जिला स्तर परकण्ट्रोल रूम बनाये गये हैं, जहाँ तीन पाली में लोगों की प्रतिनियुक्ति की गयी है। जिला स्तर पर भी नियंत्रण कक्ष बनाये गये हैं ताकि लोगों को किसी प्रकार की समस्या न हो। अभी 33,000 बेड्स कैपिसिटी वाले 200 कोविड केयर सेंटर्स फंक्शनल है, जिनमें करीब 19,000 बेड्स लगाये जा चुके हैं। इनमें 4,202 ऑक्सीजन सिलिंडर हैं और 43 जगहों पर ऑक्सीजन पाइपलाइन की भी व्यवस्था है। इसके अलावा 6,342 बेड्स की क्षमता वाले 94 डेडीकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर्स फंक्शनल हैं, जिनमें 5,000 बेड्स लगाये जा चुके हैं। इनमें 2,925 ऑक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध है और 500 से अधिक जगहों पर ऑक्सीजन पाइपलाइन की सुविधा है। सभी 10 डेडीकेटेड कोविड हॉस्पिटल्स में 3,000 डेडीकेटेड बेड्स लगे हुए हैं जबकि इनकी क्षमता 3,860 की है। इनमें 4,542 ऑक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध हैं और 1,856 ऑक्सीजन पाइपलाइन से सम्बद्ध बेड्स हैं। उन्होंने बताया कि आज की तिथि में 394 केन्द्रों में कोविड-19 मरीजों का इलाज किया जा रहा है, जहाँ करीब 44,000 बेड्स कैपिसिटी है। इनमें 26,000 बेड्स लग चुके हैं और 12,000 ऑक्सीजन सिलिंडर उपलब्ध हैं, जबकि 2,500 बेड्स पर ऑक्सीजन पाइपलाइन की सुविधा है। 270 आई0सी0यू0 बेड्स और 383 वेंटिलेटर क्रियाशील हैं। हर जिले में 4 वेंटिलेटर के साथ एकडेडीकेटेड आई0सी0यू0 की स्थापना की जा रही है जिसमें कोविड के सीवियर केसेज का इलाज होगा।

अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय  जितेन्द्र कुमार ने बताया कि सरकार द्वारा1 जुलाई से लागू अनलॉक-2 के तहत जारी गाइडलाइन्स का अनुपालन कराया जा रहा है।पिछले 24 घंटे में 02 कांड दर्ज किये गये हैं और 07 व्यक्तियों की गिरफ्तारी हुई है। इस दौरान692 वाहन जब्त किये गये हैं और 17 लाख 75 हजार 900 रूपये की राशि जुर्माने के रुप मेंवसूल की गई है। उन्होंने बताया कि सार्वजनिकस्थानों पर मास्क नहीं पहनने वाले लोगों पर भी लगातार कार्रवाई की जा रही है। पिछले 24 घंटे में मास्क नहीं पहनने वाले 5,630 व्यक्तियों से 02 लाख 81 हजार 500 रूपये की राशिजुर्माने के रूप में वसूल की गयी है। इस प्रकार 05 जुलाई से अब तक मास्क नहीं पहनने वाले1,31,745 व्यक्तियों से 65 लाख 87 हजार 250 रूपये की जुर्माना राशि वसूल की गयी है।कोविड-19 से निपटने के लिये उठाये जा रहे कदमों और नये दिशा-निर्देशों का पालन करने मेंअवरोध पैदा करने वालों के खिलाफ सख्ती से कदम उठाये जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY