दीघा पुल स्थान चयन पर विवाद का हो रहा खुलासा

747
0
SHARE

3

प्रमोद दत्त

               विधानसभा की चुनाव सभाओं में लोजपा सुप्रीमों व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान दीघा –पहलेजा रेल पुल के संबंध में यह खुलासा कर रहें है कि लालू प्रसाद वोट मांगेंगे वैशाली (राघोपुर) में औऱ जब पुल बनने की बात हुई तो उसे लेकर पहलेजा (सारण) में . रामविलास पासवान 1995-96 की पुरानी बातों को उठा रहें है. जब दीघा पुल का सर्वे हो रहा था तब यह राजनीतिक विवाद बन गया था कि पुल का स्थान कहां हो. हाजीपुर के सांसद व तत्कालीन रेल मंत्री रामविलास पासवान जहां गुलजारबाग – हाजीपुर के बीच पुल निर्माण चाहते थे वहीं सोनपुर से विधायक रहे लालू दीघा – पहलेजा के बीच पुल निर्माण चाहते थे. इसके बाद राघोपुर ( वैशाली ) से लालू प्रसाद व राबड़ी देवी विधायक बने . इस बार राघोपुर से लालू प्रसादद के पुत्र तेजस्वी यादव चुनाव लड़ रहें है. औऱ पुत्र के वोट मांगनेवाले  लालू प्रसाद  पर रामविलास पासवान टिप्पणी कर रहें है.

उल्लेखनीय है कि किसी समय नहीं चाहते हुए भी रामविलास पासवान लालू प्रसाद का समर्थन करते थे क्योंकि हाजीपुर संसदीय सीट पर जीत के लिए उन्हें लालू प्रसाद के सजातीय ( यादव ) मतदाताओं के समर्थन की जरूरत होती है थी . शायद इसलिए 1 सितंबर 1996 को जब तत्कालीन रेलमंत्री रामविलास पासवान से राजभवन में सवाल किया था तब गंगा पर रेल सह सड़क पुल के स्थल चयन पर किसी के विवाद से इंकार करते हुए पासवान ने कहा था कि अगर तकनीकी सर्वे में दोनों स्थान को उपयुक्त बताया गया तो जहां बिहार सरकार चाहेगी पुल वहीं बनेगा.

उसी रोज पटना जंक्शन पर पटना दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि पद से बोलते हुए तात्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद ने कहा था कि सुनियोजित षड्यंत्र के तहत उनके व रामविलास पासवान के बीच मतभेद होने का दुष्प्रचार किया जा रहा है. लगभग 19 वर्षों पहले लालू प्रसाद द्वारा पासवान से मतभेद पर दी गई सफाई की पोल अब रामविलास पासवान अपनी चुनावी सभाओ खोल रहें है.

SHARE
Previous articleजार्ज पर हुए हमले के विरोध में वशिष्ठ नारायण सिंह ने छोड़ा था लालू मंत्रिमंडल
Next articleलालू की जमानत को गुजराल की साजिश बताया था मोदी ने
सन् 1980 से पत्रकारिता. 1985 से विभिन्न अखबारों एवं पत्रिकाओं में विभिन्न पदों पर कार्यानुभव. बहुचर्चित चारा घोटाला सहित कई घोटाला पर एक्सक्लुसिव रिपोर्ट, चारा घोटाला उजागर करने का विशेष श्रेय. ‘राजनीति गॉसिप’ और ‘दरबारनामा’ कॉलम से विशेष पहचान. ईटीवी बिहार के चर्चित कार्यक्रम ‘सुनो पाटलिपुत्र कैसे बदले बिहार’, साधना न्यूज और हमार टीवी के टीआरपी ओरियेंटेड कार्यक्रम ‘पड़ताल - कितना बदला बिहार’ के रिसर्च हेड और विभिन्न चैनलों के लिए पॉलिटिकल पैनलिस्ट. संपर्क – 09431033460

LEAVE A REPLY