बीपीएससी में सफल रेनू ने कहा,यह मेरा अंतिम पड़ाव नहीं

0
SHARE

संवाददाता.खगौल. राजधानी पटना से सटे महान वैज्ञानिक आर्यभट्ट की नगरी खगौल ( खगोल ) में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है | इसी कड़ी में खगौल के दल्लुचक निवासी एवं डीआरएम ऑफिस के वाणिज्य विभाग में सुपरवाइजर के पद से सेवानिवृत रेलकर्मचारी,वेहतरीन फुटबॉल खिलाड़ी रघुनाथ प्रसाद (राघो) एवं माँ गायत्री देवी की सबसे बड़ी बेटी रेनू कुमारी ने बीपीएससी की परीक्षा में 498 रैंक के साथ सफलता अर्जित की है| जिसे पुलिस प्रशासनिक विभाग में डीएसपी पद पर कार्यरत होने का सौभाग्य मिलेगा|

रेनू का कहना है,यह मेरा कोई अंतिम पड़ाव नहीं है। अभी तो सेवा पथ पर चलना शुरू करूंगी।बहुत आगे जाना है।फ़िलहाल पड़ाव को हमने सीमित कर के नहीं देख रही हूँ | रेनू का कहना है कि बचपन से पुलिसिया कार्य को देखती आयी हूँ,बस मैं इतना कहना चाहूंगी की मैं एक महिला होने की वजह से भी महिलाओं की समाज में भागीदारी और उसकी मज़बूरी के साथ-साथ सामाजिक लज्जा में पीड़ा झेलने की परिस्थितियों को अभी भी देख रही हूँ| इस पर मेरा पूरा फोकस होगा की इस में सकारात्मक सोंच के साथ कैसे नारी को सम्मान मिले,प्रताड़ना से मुक्ति मिले| सम्मान के साथ सब को जीने का हक़ मिले,ऐसा प्रयास करूंगी |

रेनू बताती है कि वह बीपीएससी की परीक्षा से पहले 2020 में बैंक की परीक्षा में सफलता प्राप्त कर चुकी हैं। रेनू अपनी सफलता का सारा श्रेय अपने माता-पिता ,छोटी बहन रितु कुमारी ( एमबीए ) और भाई रितेश कुमार के साथ–साथ , बड़े भाई सोनू, संजू ,इस परीक्षा की तैयारी में सहयोग और उत्साहबर्धन करते रहने वाले साथी को देना ही नहीं, आभार व्यक्त करना चाहूंगी | ऐसे भगवान के प्रति भी मेरी पूरी आस्था है |

रेनू पढाई की शुरुआत पटना के कृष्णा निकेतन,डीएवी,वाल्मी और पटना वीमेंस कॉलेज से बी.एसी मैथ से ऑनर्स की है| रेनू का कहना है की हमने सफलता के लिए कठिन परिश्रम और पूरे सकरात्मक सोच विचार और लगन से तैयारी में लगी रही | हर दिन लगभग 8-9 घंटे की पढ़ाई धयानपूर्वक करती थी । तैयारी कर रहे अन्य छात्र-छात्राओं को उन्होंने कहा की बस अपने आप पे भरोसा रखे एवं ध्यानपूर्वक पढ़ाई करे तो सफलता आपकी कदम ज़रूर चूमेगी।

LEAVE A REPLY