घर वापस आ रहे श्रमिकों के साथ दोयम दर्जे का व्यवहार-राजद

471
0
SHARE

संवाददाता.पटना. राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश अध्यक्ष जगतानंद सिंह ने आरोप लगाया है कि स्पेशल ट्रेनों से अपने घर वापस आ रहे श्रमिकों के साथ सरकार दोयम दर्जे का व्यवहार कर रही है । इन श्रमिकों की  प्रताड़ना वहीं से शुरू हो जाती है जहाँ से वे चलते हैं । रास्ते मे इन्हें न सही ढंग से खाना दिया जाता है और न सही व्यवहार किया जाता है । गंतव्य पर पहुंचने के बाद भी इनकी प्रताड़ना कम नहीं होती । कोरांटाइन सेन्टरों पर भी उनके साथ दोयम दर्जे का व्यवहार किया जाता है ।

उन्होंने कहा कि ट्रेनों में उन्हें खाने के नाम पर जो फूला हुआ चूड़ा दिया जा रहा है , उससे  भी दुर्गंध आ रही है ।  पिछले कई सप्ताह से जिन्हें भर पेट भोजन नहीं मिला हो और ट्रेन में भी यदि वे भूखे रह कर घर लौटेंगे तो स्वाभाविक रूप से उनके रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी आयगी । जिसकी वजह से उनमें  कोरोना वायरस से  संक्रमित होने का खतरा काफी बढ़ जायेगा । इससे संक्रमण के प्रसार को रोक पाना मुश्किल होगा ।

उन्होंने मांग की कि स्पेशल ट्रेनों से अपने घर लौट रहे श्रमिकों के लिए भोजन की बेहतर व्यवस्था होनी चाहिए । सरकार को सभी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में एक यैसे पदाधिकारी को प्रतिनियुक्त करना चाहिए जो श्रमिकों को दिये जाने वाले खाने की गुणवत्ता की निगरानी करे।

 

LEAVE A REPLY