झारखंड में स्थाई सरकार के कारण विकास को मिली नई गति- रघुवर दास

529
0
SHARE

संवाददाता.रांची.मुख्यमंत्री रघुवर दास ने झारखण्ड की सवा तीन करोड़ जनता से कहा कि आपकी सरकार को 4 साल पूरे हो गए हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में और मार्गदर्शन तथा आप समस्त झारखण्ड वासियों के सहयोग से झारखण्ड लगातार विकास के पथ पर आगे बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड में स्थायी सरकार की वजह से विकास को नई गति मिली है। झारखण्ड को स्थाई सरकार देने के लिए उन्होंने राज्य की जनता के प्रति आभार व्यक्त किया।

मुख्यमंत्री आवास में सरकार के चार साल पूरे होने के उपलक्ष्य में शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन में मुख्यमंत्री श्री दास ने चार साल की उपलब्धियों को रखते हुए कहा कि नेक इरादे और हौसले से बुलंद बन रहा है न्यू झारखंड।

उन्होंने बताया कि 4 साल में 35 लाख से ज्यादा झारखंडवासियों को रोजगार और स्वरोजगार उपलब्ध कराया गया है। 1लाख से ज्यादा युवाओं को विभिन्न विभागों में सरकारी नौकरी मिली जिसमें 95 फ़ीसदी से ज्यादा झारखंडवासी हैं। 50 हजार सरकारी नियुक्तियों की प्रक्रिया जारी है। महिलाओं को स्वावलंबी और सशक्त बनाने के लिए एक लाख से ज्यादा सखी मंडलों के माध्यम से 17 लाख से ज्यादा बहनों को स्वरोजगार उपलब्ध कराया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मुद्रा लोन के जरिए साढ़े 14 लाख से ज्यादा नौजवानों को स्वरोजगार उपलब्ध कराया गया। मोमेंटम झारखंड के जरिए फूड प्रोसेसिंग, टेक्सटाइल एवं अन्य निजी क्षेत्र में 68 हजार से ज्यादा युवक-युवतियों को प्रत्यक्ष तथा 2 लाख को अप्रत्यक्ष रोजगार उपलब्ध कराया गया। टेक्सटाइल के क्षेत्र में 90% रोजगार हमारी बहनों को मिला है।

सीएम के अनुसार सार्वजनिक उपक्रमों के जरिए 10 हजार युवाओं को नौकरी मिली है।कौशल विकास के जरिए 90 हजार से ज्यादा युवाओं को निजी क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध कराया गया।

झारखंड के हर गांव तक बिजली पहुंच चुकी है।आधारभूत संरचना पर काम जारी है। 2019 में झारखंड के हर घर तक बिजली पहुंच जाएगी। पतरातु पावर प्लांट पूर्ण होने से 4000 मेगावाट बिजली का उत्पादन शुरू होगा जिससे झारखंड बिजली के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बन जाएगा।4 साल में 10 नये ग्रिड सब-स्टेशन का निर्माण हुआ।60 ग्रिड सब-स्टेशन पर काम चल रहा है जो 2019 में पूरा हो जाएगा। इसके अलावा कृषि और उद्योग के लिए अलग से फीडर का निर्माण जारी है।

 

 

LEAVE A REPLY