नक्सलियों तक पहुंचने से पहले विस्फोटकों की बड़ी खेप बरामद

396
0
SHARE

हिमांशु शेखर.रांची.झारखंड में धनबाद जिले के दिगड़ी गांव के एक घर से सीआरपीएफ ने विस्फोटों की बड़ी खेप की बरामदगी की है।विस्फोटकों की मात्रा इतनी अधिक है कि बारूदी सुरंग बिछाकर नक्सली आठ सौ से अधिक विस्फोट कर सकते थे।लेकिन समय रहते सीआरपीएफ को उस घर में रखे विस्फोटकों की जानकारी मिल गयी और नक्सलियों को सौंपे जाने से पहले ही इसे बरामद कर लिया गया।

विस्फोटकों में 482 जेलेटिन स्टिक, 889 डेटोनेटर, 250 मीटर करडेक्स वायर और दो सेफ्टी फ्यूज क्वायल है। जिस घर से विस्फोटकों की बरामदग हुई है, वहां रहने वाला व्यक्ति फरार हो गया है।

बताया जाता है कि चार मई को पूर्वी सिंहभूम  जिले के  कोकादोसा पहाड़ियों में सीआरपीएफ और एक करोड़ रुपए के इनामी नक्सली आकाश उर्फ राकेश के बीच मुठभेड़ हुई थी। हालांकि इस दौरान वह सुरक्षा बलों को चकमा देकर फरार होने में कामयाब रहा। लेकिन सर्च ऑपरेशन में सुरक्षाबलों को वहां से एक जेलेटिन स्टिक हाथ लगे। इस जिलेटिन स्टिक ही सुरक्षाबालों के लिए सुराग बना। इसे खतरनाक विस्फोटक के मिलने से सुरक्षाबालों के माथे पर बल पड़ा कि यह नक्सलियों को हासिल कैसे हुआ।

सुरक्षाबलों की पहल पर इस बात का पता लगाने के लिए वहां खुफिया एजेंसी वहां सक्रिय हो गयी। सूचना मिलने के बाद कमांडेंट स्तर के सीआरपीएफ अधिकारी एक व्यक्ति के साथ ग्राहक बनकर स्वयं दिगड़ी गांव पहुंच गये। पांच लाख रुपये तक में विस्फोटों में से कुछ का सौदा तय हुआ। विस्फोटकों का नमूना लेकर सीआरपीएफ अधिकारी मुख्यालय पहुंच गये। विस्फोटकों की क्षमता की जांच की गयी। इस दौरान पता चला इसकी क्षमता काफी अधिक है।

फिर कमांडो दस्ते से कहा गया कि वह इशारा मिलते ही एक्शन में आ जाएगा। लेकिन दिगड़ी गांव में बारिश होने लगी। आरोपी व्यक्ति को शक हो गया कि इतनी अधिक बारिश में इन्हें आने की जरूरत क्या थी और वह वहां से फरार हो गया। लेकिन उस घर की तलाशी के दौरान विस्फोटकों की इतनी बड़ी खेप बरामद की गयी।

 

LEAVE A REPLY