सवेरा कैंसर हॉस्पीटल में हुआ 500 लोगों का नि:शुल्क कैंसर जांच

203
0
SHARE

संवाददाता.पटना.वर्ल्‍ड कैंसर डे के मौके पर मंगलवार को बिहार के सबसे आधुनिक सवेरा कैंसर एंड मल्‍टीस्‍पेशलिटी हॉस्‍पीटल में नि:शुल्‍क कैंसर जांच शिविर और जागरूकता अभियान का आयोजन किया गया। इस मौके पर 500 लोगों का नि:शुल्‍क कैंसर जांच किया गया, जिसमें 118 लोग कैंसर से पीडि़त पाये गए। शिविर में उन्‍हें उचित परामर्श भी दिया गया। इसके अलावा इस शिविर में कैंसर से बचाव और उपचार को लेकर सही और सटीक जानकारी भी दी गई।

शिविर के दौरान सवेरा कैंसर एंड मल्‍टीस्‍पेशलिटी हॉस्‍पीटल के एमडी डॉ वी पी सिंह ने बताया कि सवेरा बिहार का एकमात्र संपूर्ण सुविधा से लैस कैंसर स्‍क्रीनिंग, डायग्‍नॉस और ट्रीटमेंट उपलब्‍ध कराने वाला अस्‍पताल है, जिसमें कैंसर के सुपरस्‍पेशियलिटी ट्रीटमें के साथ मल्‍टी मेडिकल स्‍पेशियलिटी टीम भी मौजूद है।  इसलिए आज वर्ल्‍ड कैंसर दिवस के अवसर पर हमने सैकड़ों गरीब लोगों की सुविधा के लिए फ्री चेक अप कैंप में  X-Ray, USG,   Pap Smear, Colposcopy, PSA के साथ दूसरे जांच भी नि:शुल्‍क किये।

डॉ वी. पी. सिंह ने बताया कि दुनियाभर में कैंसर की बढ़ती संख्‍या मानव सभ्‍यता के लिए घातक है। साल 2020 में जहां 1.5 करोड़ कैंसर के मरीज डिटेक्‍ट किये गए, वहीं 2025 तक ये आंकड़े के 2 करोड़ होने की संभावना है। हमारे देश में करीब 7 लाख कैंसर के नये मरीज हर साल देखे जा रहे हैं, जिसकी अधिकांश उम्र सीमा 35-65 वर्ष है। बिहार में करीब 6 लाख कैंसर मरीज हैं। हेड और नेक (40 प्रतिशत), Cervix कैंसर(25 से 30 प्रतिशत) और स्‍तन कैंसर (25 प्रतिशत) है। शहरों में Cervical Cancer कम और गांवों में ज्‍यादा देखने को मिल रहे। स्‍तर कैंसर ज्‍यादा शहरों में मिलते हैं। Cervical Cancer निम्‍न आय वर्ग के लोगों में पाये जाते हैं, क्‍योंकि उनमें पूअर हायजीन की समस्‍या अधिक होती है।

डॉ वी. पी. सिंह ने बताया कि ब्रेस्‍ट कैंसर के ज्‍यादातर मामले शहरों में होते हैं, जो पाश्‍चात शैली के अनुकरण के कारण होता है। उन्‍होंने बताया कि तंबाकू कैंसर कारकों में प्रथम स्‍थान रखता है। इससे 60 से 70 प्रतिशत तक कैंसर होने की संभावना होती है। प्रीवेंशन कॉस्‍ट पर देखा जाये तो सिर्फ तंबाकू को बंद करने से 50 प्रतिशत तक कैंसर की संभावना कम जाती है। इसका उदाहरण बिहार रहा है। गेट्स एनालिसिस की रिपोर्ट के अनुसार, यहां तंबाकू सेवन 28 प्रतिशत रिपोर्ट किया गया है, जबकि यह 2011 में 52.5 प्रतिशत था।

डॉ वी. पी. सिंह ने इस दौरान लोगों को कैंसर से बचाव और इलाज के नई तकनीक की भी जानकारी दी। पद्मश्री डॉ आर एन सिंह के मार्गदर्शन में जांच शिविर का संचालन किया गया और कैंसर के खिलाफ इस जंग में लोगों के भविष्‍य को बचाने का संकल्‍प लिया गया। नि:शुल्‍क जांच शिविर में बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्‍यक्ष मृत्‍युजंय कुमार सिंह, रोटरी क्‍लब ग्रेटर पटना के अध्‍यक्ष डॉ राजीव कुमार सिंह, नृत्‍यायन हॉबी सेंटर के डायरेक्‍टर मौसम शर्मा, अभिनेता शशांक शेखर, डॉ उषा डिडवानिया, एनआरआई संघ भाजपा बिहार के अध्‍यक्ष अनिल दत्त सिंह, डॉ विशाल मोहन, डॉ श्‍वेता, डॉ प्रतिभा रॉय, डॉ रवि, डॉ फैज अशरफ, डॉ समीउल्‍लाह, डॉ आदित्‍य, डॉ पंकज और डॉक्‍टर प्रतीक आनंद भी प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

 

LEAVE A REPLY