लॉकडाउन के 48 दिनों के बाद दानापुर पहुंची पहली यात्री ट्रेन

223
0
SHARE

सुधीर मधुकर.पटना. देश में जारी लॉकडाउन के 48 दिनों के लंबे इंतजार के बाद बुधवार की सुबह नई दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस पहली यात्री ट्रेन दानापुर स्टेशन आयी। इस में करीब  125 से अधिक यात्री दानापुर आये । वहीं दानापुर स्टेशन पर करीब 150 से अधिक यात्री अन्य स्टेशनों के लिए जाने के लिए सवार भी हुये |

व्यापार,ईलाज,पढ़ाई ,अपने परिजनों आदि से मिलने दिल्ली गए दरभंगा के प्रभात कुमार ,मोतिहारी के राजीव कुमार सिंह ,जहानाबाद के संजय कुमार,नीलम देवी ,शिवम् कुमार आदि ने दानापुर स्टेशन पर  ट्रेन से उतरने पर बताया  कि हमलोग लॉक डाउन की वजह से दिल्ली में फंसे होने के कारण काफी परेशानियों के बीच जीवन गुजार रहे थे | आज पहली बार ट्रेन चलने से लगता है ,जीवन लौट आया है | इस के लिए प्रधानमंत्री के प्रति हमलोग आभार व्यक्त करना चाहेंगे | हमलोग निश्चित रूप से कोरोना संक्रमण से रोकथाम और बचाव को लेकर अपने परिवार के साथ रहेंगे | वहीँ दिल्ली के गर्ल्स होस्टल्स में लॉक डाउन में फंसी हाजीपुर के रेल अधिकारी की पुत्री शिवानी ने बताया कि कैसे जीवन गुजार रही थी,नहीं बता सकती,बस अपने परिवार के बीच कितना जल्दी पहुँच कर मिलें यही सोंच रही हूँ |

दूसरी ओर इस ट्रेन में दानापुर स्टेशन से यात्रा शुरू कर अपने घर गौहाटी ,डिब्रूगढ़ आदि जगहों पर जाने वाले अधिकांश व्यापारी में दीमापुर के यात्री अमित जैन,निशांत आदि का कहना है कि हमलोग व्यापार कार्यों को लेकर पटना आये हुए थे कि लॉक डाउन की घोषणा हो गयी और हमलोग यहाँ करीब ४८ दिनों से फंसे हुए हैं | परिवार के अन्य लोगों के साथ-साथ खास कर छोटे-छोटे बच्चों की चिंता अधिक सता रही है | हमलोग जानते हैं,कि कोरोना का खतरा अभी भी है,पर क्या किया जाये ,बस अब तो घर जायेंगे और परिवार के साथ ही जीयेंगे और मरेंगे | इस संकट की घड़ी में आज घर जाने के लिए ट्रेन चलाया गया ,हमसभी सरकार के प्रति आभार व्यक्त करते हैं |

दानापुर स्टेशन पर सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर विशेष कर बार-बार यात्रियों को निर्देश दिया जा रहा था । ट्रेन में यात्रियों के सवार होने से पहले थर्मल स्क्रीनिंग हुई । जिनको यात्रा नहीं करनी थी, उनको स्टेशन परिसर में नहीं आने दिया गया। जीआरपी ने स्टेशन के बाहर और आरपीएफ ने प्लेटफार्म की व्यवस्थाएं संभालीं।

स्टेशन परिसर में यात्रियों के दाखिल होने से पहले मास्क व मोबाइल में आरोग्य सेतु एप की भी जांच हुई। बिना इनके इंट्री पर रोक के आदेश थे। ई-टिकट की प्रतिलिपि व मोबाइल पर आए मैसेज को चेक करने के लिए मेन गेट पर ही टिकट चेकिंग स्टाफ लगाया गया था।

यात्रियों को घर से ही खाना और पीने का पानी लेकर पहुंचे। रेलवे ने स्पेशल ट्रेन में पैंट्रीकार की व्यवस्था बंद कर रखी है। स्टेशनों पर जहां ट्रेनें रुकेंगी, वहां खाने-पीने के स्टॉल भी नहीं लगेंगे। यात्री अपने साथ कंबल, चादर और तौलिया लेकर आए थे।दानापुर  पहुंचे यात्री घर जाने के लिए स्टेशन के बाहर भटकते रहे। उन्हें कोई साधन नहीं मिला।

 

LEAVE A REPLY