भारत और मॉरीशस के बीच प्रगाढ़ सांस्कृतिक संबंध-सरिता बुधू

503
0
SHARE
India and Mauritius

नीतू नवगीत और सरिता बुधू ने बिहार और मॉरीशस के पारंपरिक लोकगीत गाए
संवाददाता.पटना. मॉरीशस सरकार में भोजपुरी स्पीकिंग यूनियन की चेयर पर्सन सरिता बुधु ने कहा कि भारत और मॉरीशस के बीच प्रगाढ़ सांस्कृतिक संबंध हैं।सांस्कृतिक संस्था नवगीतिका लोक रसधार द्वारा सरिता बुधू के स्वागत में काव्य सह लोकगीत संध्या का आयोजन किया गया। इसमें शहर के नामचीन कवियों और लोकगीत कलाकारों ने हिस्सा लिया।
पटना के कंकड़बाग में आयोजित कार्यक्रम में डॉ शिवनारायण, ममता मेहरोत्रा, नीतू कुमारी नवगीत, अविनाश झा, अलका प्रियदर्शनी, रूबी भूषण,नमामि गंगे के पवन सौरभ और अमित सिंह सहित अनेक कवियों ने काव्य पाठ किया। नीतू नवगीत और सरिता बुधू ने बिहार और मॉरीशस के पारंपरिक लोकगीत गाए।
कार्यक्रम में मॉरीशस भोजपुरी स्पीकिंग यूनियन की चेयर पर्सन सरिता बुधू ने कहा कि भारत और मॉरीशस के बीच प्रगाढ़ सांस्कृतिक संबंध हैं। मॉरीशस के हर कोने में भारतीय कला और संस्कृति के दर्शन होते हैं। उन्होंने कहा कि भारत आना उनके लिए अपनी जड़ों की ओर लौटना होता है। यहां आकर वह भाषाविदों और संस्कृति कर्मियों से मिलकर दोनों देशों की सांस्कृतिक प्रगाढ़ता को और मजबूती देती हैं। उन्होंने भोजपुरी में अनेक संस्कार गीत गाए। कार्यक्रम में डॉ शिवनारायण ने अपने ग़ज़ल की पंक्तियां प्रस्तुत की।
युवा कवि अंकेश कुमार ने नवहर्ष है, नवदर्श है नवराग है, नवगीत है कविता पढ़कर सुनाई। आकाशवाणी की कार्यक्रम अधिशासी अलका प्रियदर्शिनी ने भी बढ़िया काव्यपाठ किया। उन्होंने कहा कि अक्सर यह विचार आता है कि कविता क्यों लिखी जाती है।रूबी भूषण की कविता के बोल रहे – बहता पानी है, यह दुनिया कैसा मायाजाल है पहला कोई बताए इस जीवन में प्यास लिए में खड़ी हुई हूं। वरिष्ठ साहित्यकार ममता मेहरोत्रा अपने सद्यः प्रकाशित पुस्तक गीता प्रश्नोत्तरी सरिता बुधू को भेंट किया और अपने उद्गार व्यक्त किए।

LEAVE A REPLY