वरदान बना आयुष्मान भारत योजना,बिहार में 2.83 लाख से अधिक का इलाज

98
0
SHARE

संवाददाता.पटना. आयुष्मान भारत योजना के तहत बिहार में जून 2021 तक 2 लाख 83 हजार  143 लोगों को निःशुल्क इलाज प्रदान किया गया है। वहीं ऐसे लोगों के इलाज पर 272 करोड़ 2 लाख 19 हजार रुपये की धनराशि खर्च हुई है। जबकि जून माह तक बिहार में 68 लाख 52 हजार 382 लोगों के गोल्डन कार्ड बनाए गए हैं। सिर्फ़ जून माह में 14 हजार 287 लोगों के गोल्डन कार्ड बनाए गए हैं एवं 4 हजार 648 लोगों को योजना के तहत निःशुल्क इलाज मुहैया कराया गया है.

यह जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा है कि माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत राज्यवासियों के लिए वरदान साबित हो रहा है। योजना के तहत वंचित एवं गरीब परिवार के लोगों को 5 लाख रुपये तक की निःशुल्क इलाज की सुविधा प्रदान करायी जा रही है।

      श्री पांडेय ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के तहत चिह्नित परिवारों को बेहतर इलाज मुहैया कराने के उद्देश्य से बिहार में कुल 912 अस्पतालों को सूचीबद्ध किया गया है, जिसमें 572 सरकारी अस्पताल, 303 निजी अस्पातल एवं 38 भारत सरकार के अस्पताल को शामिल किया गया है। दूसरी ओर जून माह में भी राज्य भर में 28 नए निजी अस्पतालों को सूचीबद्ध किया गया है। कोरोना संक्रमण के दौर में 2021 के पहले एवं दूसरे क्वार्टर में कुल 48 हजार 35 लोगों ने योजना का लाभ उठाते हुए अपना निःशुल्क इलाज कराया, जिसमें 48 करोड़ 85 लाख रुपये व्यय हुए। वर्ष 2020 में राज्य में कुल 93 हजार 106 लोगों ने योजना का लाभ उठाया, जिसमें  84.07 करोड़ रुपये उनके इलाज पर खर्च हुए। इसी तरह वर्ष 2019 में राज्य में कुल 97 हजार 132 लोगों ने योजना का लाभ उठाया, जिसमें 137.37 करोड़ रुपये का व्यय इलाज पर हुआ है।

 

 

LEAVE A REPLY