जानें…कैसे बिगाड़ी जा रही है हिन्दू देवी-देवताओं की छवि ?

248
0
SHARE

इशान दत्त.

हिंदुओं की आस्था को ठेंस पहुचाना मानों एक परंपरा सी बन चुकी हैं। कभी साधु संतों का मज़ाक बनाना,तो कभी भगवान की छवि को गलत तरीके से दिखाना मानों अभिव्यक्ति की आजादी सिर्फ इसीलिए बनी हो।
ऐसा ही कुछ हाल ही में  नेटफ्लिक्स में आए अनिम “रिकॉर्ड ऑफ रागनरोक” में देखने को मिला।यह अनिम इसी नाम के जापानीज मंगा पर  बनाया गया हैं। जिसके लेखक हैं शिनिया युमेमुरा और तकुमी फुकुई और चित्रकार हैं अजिचिका।
इस अनिम मे  दिखाया गया हैं  कि  पौराणिक कथाओं और धर्मशास्त्र से मनुष्यों और  हर देवताओं के बीच एक मुकाबला  होता हैं, जिसमें  मनुष्य मानवता को बचाने के लिए लड़ते हैं। अगर वह हारे तो भगवान मानवता का अंत कर देंगे। इस नाम के इस अनिम के पहले  एपिसोड में भगवान  शिव को यह कहते हुए दिखाया गया की वह मानवता के अंत से सहमत हैं।

भगवान शिव के साथ रोमन  माइथोलॉजी की देवी ऐफ़्रोडाइटी  भी भगवान शिव के साथ इस बात पर समर्थन करते दिखाई गई।  इस अनिम में भगवान शिव के चरित्र को भी काफी  विपरीत  दिखाया गया, भोलेनाथ के नाम से  जाने वाले महादेव को इस अनिम में जरा सा भी उनको भोला नही दिखाया गया।बल्कि उनके पात्र को देखकर लग रहा था कि वह काफी घमंडी हैं।  उनके किरदार को  विनाश के देवता के रोओ में ज्यादा  दिखाया गया।
अगर  आप सच्चे सनातनी हैं तो  इसका पहला एपिसोड देखने के बाद आप इसे देखने की हिम्मत नही कर पाएँगे।अगर माता पार्वती  को सभी भक्त  माँ कहकर संबोधित करते हैं, तो महादेव उनके लिए पिता जैसे हैं। और एक पुत्र अपने पिता का अपमान होते नही देख सकता।
इस अनिम में भले ही भगवान शिव को दिखाया गया, मगर इसके मंगा में भगवान  शिव के  साथ-साथ माता पार्वती, माँ काली, माँ दुर्गा, भगवान गणेश और कई हिन्दू देवी-देवताओं का भी अपमान किया गया हैं।
सभी देवियों को जिस तरह के वस्त्र में दिखाया गया वह काफी शर्मनाक  हैं।आखिर कब तक हमारे हिन्दू देवी देवताओं का अपमान होते रहेगा ?इस अनिम को नेटफ्लिक्स इंडिया में भले रिलीज नही किया गया हो, मगर विदेशो में हमारे देवी देवताओं के छवि को तो बिगाड़ा ही जा रहा हैं।दूसरे धर्मों से संबंधित लेख या चित्रों के माध्यम से आपत्तिजनक आभिव्यक्ति होती है तो इसका विरोध ग्लोबल शक्ल अख्तियार कर लेता है लेकिन हिन्दू देवी-देवाताओं की छवि बिगाड़ना ग्लोबल फैशन बनता जा रहा है।

 

LEAVE A REPLY