मुख्यमंत्री पर महिला सशक्तीकरण को लेकर सिर्फ खानापुरी का आरोप

201
0
SHARE

संवाददाता.पटना. बिहार में महिलाओं पर बढ़ते अपराध को लेकर महिला विकास मंच ने शनिवार को बिहार के मुख्यमंत्री पर कड़ा हमला बोलते हुए कहा है कि महिला विकास मंच ने महिलाओं के मुद्दे पर कई बार मुख्यमंत्री जी से बात करने का प्रयास किया, लेकिन वे सिर्फ सशक्तीकरण की बात कर अपनी जिम्मेदारियों की खानापूर्ति करते हैं. हकीकत ये है कि वे इस मुद्दे पर बात ही नहीं करना चाहते हैं. उक्त बातें आज महिला विकास मंच द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में मंच की राष्ट्रीय संरक्षक वीणा मानवी ने कहीं. सरकार की उदासीनता को देखकर उन्होंने आने वाले दिनों में पार्टी बनाने का भी ऐलान किया.

उन्होंने कहा कि महिला सशक्तीकरण के लिए हमने गत 10 सालों से ना जाने कितने आवाज उठाई और  मुख्यमंत्री जी से मांग की कि जागरूकता अभियान चलाने के लिए हमारी टीम से मदद लें. सैकड़ों महिलाओं की फौज के साथ वह सरकार को मदद करने के लिए तैयार है. लेकिन उन्होंने कभी भी महिला विकास मंच को मिलने का समय नहीं दिया, जिससे महिलाएं काफी आक्रोशित और दुखी हैं.

उन्होंने कहा कि कई केसेस बिहार के ऐसे हैं जहां वारंट निकलने के बाद भी मुजरिम की गिरफ्तारी है पुलिस नहीं कर पा रही है और मुजरिम अपने घर में आराम से बैठा है. लड़कियां आए दिन मार – जल – कट रही है. साथ ही साथ पुरुष प्रताड़ना पर भी महिला विकास मंच लगातार काम कर रही है. हाल में एक केस में उन्होंने बिहार के 4 लड़कों पर रेप केस का झूठा आरोप में मंच ने उनका भविष्य बचाया. इन चीजों को भी बारीकी से देखने की जरूरत है. इसके लिए हम मुख्यमंत्री जी से जल्द पुरुष आयोग बनाने की मांग करते हैं.

इस मौके पर किशनगंज अध्यक्ष डॉक्टर तारा श्वेता आर्य के 3 साल का कार्यकाल समाप्त होने पर उनके कार्यों को देखते हुए उन्हें राष्ट्रीय महामंत्री बनाया गया. मंच की अध्यक्ष अरुणिमा ने उन्हें पगड़ी तलवार देखकर सम्मानित किया. उपाध्यक्ष फाहिमा खातून ने कहा कि अब हमारा मकसद हमारे काम की महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को रोकना भी होगा. चंपारण जिले के लगभग 100 से भी अधिक प्रताड़ना के केसेस को उन्होंने हल किया है. राष्ट्रीय प्रभारी अटल कुमार गुप्ता और राष्ट्रीय सचिव पंकज सिंह ने कहा कि व्यवसाय हत्या को लेकर हमारी टीम अलग से करेगी कार्य सरकार के किसी भी तरह कि कोई सहयोग ना होने के बावजूद भी हम लगातार समाज के प्रति अपनी जवाबदेही को निभा रहे हैं और निभाते रहेंगे.

अरुणिमा जी ने कहा बड़ा दुख होता यह देख कर की झारखंड बंगाल उत्तर प्रदेश हर जगह हमें सरकार से सहयोग मिलता है सिर्फ बिहार छोड़ के हमारे कार्यों की खुशबू पूरे देश में फैल रही है लेकिन फिर भी हमारे मुख्यमंत्री जी कभी महिलाओं के मुद्दों पर बात तक नहीं करना चाहते. मौके पर मौजूद प्रदेश महामंत्री पूनम सलूजा ने कहा अगर हमारी पार्टी बनी तो सभी जातियों के समीकरण के साथ बनेगी, क्योंकि बिहार में जाति की राजनीति को विशेष बढ़ावा दिया जाता है.  टेकारी संयोजक सरिता देवी ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की सोच को बदलने के लिए जागरूकता अभियान चलाना बहुत ही अनिवार्य है.

 

 

LEAVE A REPLY