फिलस्तीन का साथ देने पर केंद्र सरकार के प्रति रालोसपा का आभार

1283
0
SHARE

संवाददाता.नई दिल्ली.संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारत का फिलस्तीन का साथ देने पर राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) ने केंद्र सरकार का आभार जताया है।पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव व प्रवक्ता फजल इमाम मल्लिक ने बयान जारी कर कहा कि यह ऐतिहासिक घटना है.

भारत ने संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की ओर से येरुशलम को इज़रायल की राजधानी के तौर पर मान्यता देने के खिलाफ वोट दिया था.मल्लिक ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का आभार जताया है. उन्होंने कहा कि इससे पूरी दुनिया में संदेश गया है कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार अमेरिका की गलत नीतियों का समर्थन नहीं करती है और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की धमकी के बावजूद फिल्सतीन का साथ दिया. मल्लिक ने इसे ऐतिहासिक घटना करार देते हुए कहा कि देश में जो धर्मनिरपेक्षता का झंडा उठा कर केंद्र की नीतियों की आलोचना करने में लगे हैं, मोदी सरकार ने उन्हें आईना दिखाया है।

मल्लिक के अनुसार चाहिए तो यह था कि सभी सियासी पार्टियों को मोदी सरकार के इस कदम की तारीफ करतीं और एकजुटता दिखातीं, लेकिन किसी भी सियासी दल ने ऐसा करने की हिम्मत नहीं दिखाई। मल्लिक ने कहा कि इससे पूरी दुनिया में संदेश गया कि भारत किसी भी ताकत के सामने झुकने वाला नहीं है, हमारी अपनी नीति है और इस नीति के तहत ही फैसले लेते हैं।

मल्लिक ने कहा कि रालोसपा हमेशा ही मजलूमों और वंचितों की आवाज उठाती रही है। पार्टी फिलस्तीन के मुद्दे पर केंद्र के हर कदम का साथ देगी। उन्होंने कहा कि केंद्र के संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका और इजराइल के खिलाफ वोट देने से देश के मुसलमानों में अच्छा संदेश गया है।

 

 

LEAVE A REPLY