स्वास्थ्य के साथ पर्यावरण को भी नुकसान कर रहा तंबाकू उत्पाद- मंगल पांडेय

139
0
SHARE
Tobacco

संवाददाता.पटना.विश्व तंबाकू निषेध दिवस 2022 के अवसर पर सोमवार को तंबाकू नियंत्रण में उत्कृष्ट कार्य करने वाले जिलों एवं संस्थानों को सम्मानित करने के लिए राज्य स्वास्थ्य समिति द्वारा राज्यस्तरीय सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। उक्त कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री  मंगल पांडेय ने अरवल, गया, बेगूसराय, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, पूर्णिया, जमुई एवं शेखपुरा जिला सहित सोसिओ इकोनॉमिक एंड एजुकेशनल डेवलपमेंट सोसाइटी (सीड्स) को तम्बाकू नियंत्रण क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया।
      कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री पांडेय ने कहा कि तंबाकू उत्पाद सिर्फ हमारे स्वास्थ्य को ही नहीं, बल्कि पर्यावरण को भी भारी नुकसान पहुंचा रहा है। सिगरेट, गुटका समेत तमाम तंबाकू पदार्थ प्लास्टिक में पैक होते हैं, जिसे रिसाइकल नहीं किया जा सकता है। पर्यावरण पर हर रोज हजारों टन तंबाकू उत्पाद प्लास्टिक अपशिष्ट कचरा पर्यावरण पर बोझ बढ़ता जा रहा है। राज्य सरकार तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु कृत संकल्पित है, जिसमें गैर सरकारी संस्थाओं की भूमिका महत्वपूर्ण है। राज्य सरकार के द्वारा सीड्स के तकनीकी सहयोग से तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के तहत राज्य के विभिन्न जिलों में कई तरह की गतिविधियां चलायी जा रही है।
श्री पांडेय ने कहा कि अब तक बिहार में 23 जिलों को जिला प्रशासन के द्वारा धूम्रपान मुक्त जिला घोषित किया जा चुका है। तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत उत्कृष्ट कार्य करने के लिए धूम्रपान मुक्त 10 जिलों को आज के इस कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग द्वारा सम्मानित किया जा रहा है। बांकी के 13 जिलों को पूर्व में सम्मानित किया जा चुका है। तंबाकू हमारे पर्यावरण के लिए काफी घातक होता है। तंबाकू उपयोग में आने वाले प्लास्टिक के अपशिष्ट से पर्यावरण प्रदूषित होता है। इसकी जागरुकता के लिए राज्य के सभी जिलों में 4 महीनों के अंदर गोष्ठी का आयोजन करेंगे, जिसमें ऐसे उम्र वर्ग के बच्चों को टारगेट करेंगे, जो इसके सेवन में दिलचस्पी दिखाते हैं। युवा वर्ग को जागरूक करेंगे, ताकि उनके स्वास्थ्य को सुरक्षित करने का प्रयास किया जा सके।
    कार्यक्रम की शुरुआत राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह ने उपस्थित सभी अतिथियों एवं प्रतिभागियों का स्वागत कर किया एवं सीड्स के कार्यपालक निदेशक दीपक मिश्रा ने प्रस्तुतिकरण के माध्यम से तंबाकू उत्पाद कचरे-अपशिष्ट का पर्यावरण पर बोझ अध्ययन के आंकड़ों को साझा किया। इस अवसर पर जमुई जिलाधिकारी अवनीश कुमार सिंह, तम्बाकू नियंत्रण के राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ सुनील कुमार समेत गैर संचारी रोग पदाधिकारी, डीपीएम एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

 

 

LEAVE A REPLY