पटना को जलजमाव से बचाने के लिए उच्चस्तरीय बैठक

205
0
SHARE
water logging

संवाददाता.पटना. बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद की अध्यक्षता में आगामी बरसात में पटना महानगर में जलजमाव से संबंधित एक उच्च स्तरीय बैठक हुई जिसमें सांसद रविशंकर प्रसाद, बिहार पथ निर्माण विभाग मंत्री नितिन नवीन, स्थानीय विधायक नंद किशोर यादव, अरुण कुमार सिन्हा, संजीव चौरसिया, पटना महापौर सीता साहू, नगर विकास विभाग के प्रधान सचिव  आनंद किशोर, पटना जिलाधिकारी चन्द्र शेखर सिंह एवं नगर निगम आयुक्त अनिमेश पराशर सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।
चर्चा की शुरूआत करते हुए पटना साहिब सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रमुख रूप से आग्रह किया कि चौदह प्रमुख बडे़ नालों की सफाई प्रभावी रूप से सुनिश्चित की जाये। मीठापुर से पटना बाईपास पहाड़ी नाला जो काफी पानी का लोड लेता है वो अभी भी पूरा साफ नहीं हुआ है। इन सभी नालों की सफाई करके निकाले हुए गाद को नाले से दूर किसी डम्पिंग ग्राउंड में डाला जाये अन्यथा बरसात के समय पुनः गाद नाले में गिर जाता है। इसी प्रकार छोटे नाले एवं गलियों के नालों की सफाई के लिए निश्चित अवधि तय किया जाये।
श्री प्रसाद ने कहा कि इसके साथ ही साथ मेन हॉल की सफाई जरूरी है और विशेष रूप से उन इलाकों में जहां पारंपरिक रूप से बरसात का पानी लगता है जैसे राजेन्द्र नगर, कदम कुआँ, कंकडबाग, शास्त्री नगर, पटेल नगर, श्री कृष्णापुरी, पोस्टल पार्क आदि। उन्होंने इस पर गंभीर चिन्ता प्रकट की है कि आज जो अधिकारियों ने बताया उसमें सिर्फ कंकड़बाग अंचल के अंतर्गत 1200 मेन हॉल की सफाई बाकी है। ये काफी गंभीर स्थिति है। इस विषय को माननीय उपमुख्यमंत्री एवं प्रधान सचिव ने गंभीरता से लिया और 30 मई तक किसी भी हाल में सभी मेन हॉल की सफाई करने का निर्णय लिया गया है।
श्री प्रसाद ने इस बैठक में बहुत जोर देकर कहा कि जितने भी पटना में ड्रेनेज पंप एवं सम्प स्टेशन आदि है उसके ऑपरेटर, संबंधित मजिस्ट्रेट आदि का नाम एवं मोबाइल नम्बर अखबार में छपवाया जाये और इसकी सूची सभी जनप्रतिनिधियों को भी दिया जाये ताकि जनता सीधे अपनी शिकायत कर सके यदि कोई पंप कार्य नहीं कर रहा हो।
श्री प्रसाद ने यह विशेष रूप से आग्रह किया कि नमामि गंगे योजना के अंतर्गत बहुत सी सड़के टूट गई है जिसको संबंधित पथ निर्माण विभाग के द्वारा एक आपातकाल योजना के अंतर्गत बनाया जाये अन्यथा बारिश होते ही जनता को कठिनाईयाँ होगी।श्री प्रसाद ने बैठक में उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद एवं प्रशासनिक पदाधिकारियों से आग्रह किया कि जितने भी पारंपरिक रूप से बरसात में जल-जमाव मोहल्ले है वहाँ विशेष व्यवस्था की जाए ताकि बरसात में जल-जमाव होते ही निकल जाए।पटना के सैदपुर नाले को कवर करते हुए जल्द ही नाला और सड़क निर्माण पूरा किराया जाये ताकि पानी का निकास और सैदपुर से गायघाट तक यातायात आवगमन सुविधा हो। उपमुख्यमंत्री और प्रधान सचिव ने यह आशवस्त किया कि ये निर्णय हो चुका है और जल्द ही इस योजना को पूरा किया जाएगा।

 

LEAVE A REPLY