पॉम आयल मिशन से खाद्य तेल में आत्मनिर्भर होगा भारत

162
0
SHARE
Palm Oil Mission

संवाददाता.पटना.खाद्य तेलों में देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 11000 हजार करोड़ की राशि से नेशनल पॉम ऑयल मिशन की शुरुआत खाद्य तेलों के दाम नियंत्रित करने के लिए एक बडी पहल है।यह मानना है पूर्व उपमुख्यमंत्री व भाजपा सांसद सुशील मोदी का।
उन्होंने बताया कि खाद्य तेल के आयात पर भारत की निर्भरता 60 प्रतिशत है।पिछले साल अन्तरराष्ट्रीय बाजार में 83 फीसद मूल्य वृद्धि के बावजूद 1.3 करोड़ टन आयात करना पड़ा था, जिससे महंगाई बढी।
श्री मोदी ने कहा कि सरकार ने नेशनल पॉम ऑयल मिशन के माध्यम से पांच साल में पॉम की खेती को 10 लाख हेक्टेयर तक बढाने का लक्ष्य रखा है।पॉम किसानों को इनपुट सब्सिडी के रूप में मिलने वाली राशि में 17000 रुपये प्रति हेक्टेयर की वृद्धि की गई। इस मिशन से घरेलू खाद्य तेल उद्योग और करोड़ों आम उपभोक्ताओं को राहत मिलेगी।
उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने बेटियों को सेना में भर्ती कर इन्हें बेटों के समान स्थायी कमीशन देने का ऐतिहासिक निर्णय लिया और इसके लिए राष्ट्रीय रक्षा अकादमी की प्रवेश परीक्षा में बेटियों को भी शामिल होने की अनुमति दे दी।बिहार की सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 35 फीसद आरक्षण मिलने से हाल में राजगीर पुलिस अकादमी से प्रशिक्षित 615  महिला पुलिस अधिकारियों की नियुक्ति हुई। एनडीए सरकार ने सेना तथा पुलिस में बेटियों को अवसर देकर महिला सशक्तीकरण का एक और शिखर जीत लिया।

LEAVE A REPLY